बिना दवाई या कैप्सूल के अपना वजन तेजी से कैसे बढ़ाए How to increase your weight fast

 तेजी से वजन कैसे बढ़ाए How to increase your weight fast

हेलो दोस्तो अगर आप भी दुबले पतले कमजोर शरीर वाले हैं और तरह-तरह के नुस्खे आजमाकर और जिम जा कर थक चुके हैं लेकिन फिर भी आपका वजन नहीं बढ़ रहा है तो आज हम आपको इस पोस्ट में खाने की ऐसी चीजें बताएंगे जो आप खाली पेट खाकर शीघ्र ही अपना वजन बढ़ा पाएंगे।

अगर आप मात्र कम पैसे खर्च करके अपना वजन तेजी से बढ़ाना चाहते हैं तो इस पोस्ट को पूरा अवश्य पढ़ें।
हाउ टो वेट गैन फास्ट, how weight gain fast
  दोस्तों इस दुनिया में एक तरफ लोग अपने मोटापे से परेशान हैं तो दूसरी ओर अपनी दुबले पतले शरीर से।
दोस्तों क्या कभी आपने ऐसा सोचा है कि ऐसा क्यों होता है कुछ लोगों का वजन बहुत ज्यादा बढ़ जाता है और कुछ लोगों का वजन नहीं बढ़ पाता है तो दोस्तों जानते हैं इसका क्या कारण है।


वजन न बढ़ने के कारण Due to non-weight gain)

इसके मुख्य दो कारण है-
1.आप अपने पूरे दिन में क्या और किस प्रकार की डाइट लेते हैं। इस डाइट से आपके शरीर को कितना न्यूट्रिशन और कितनी कैलोरीज(nutrition and calories)


मिलती है कितना प्रोटीन मिलता है।
तो दोस्तों आपके शरीर का वजन बढ़ना या न बढ़ने का पहला कारण आपकी डाइट (balanced diet) ही है। यानी कि आपकी रोज लेने वाली खुराक है।
अगर आप अच्छी डाइट लेंगे तो आपका वजन तेजी से बढ़ेगा या अपनी डाइट मैं प्रॉपर न्यूट्रिशन ही नहीं लेंगे तो आपका वजन प्रॉपर नहीं बढ़ पाएगा।
2. इसके अलावा वजन नहीं बढ़ पाने का दूसरा कारण होता है हमारा डाइजेस्टिव सिस्टम
शरीर में वजन न बढ़ पाने का मुख्य कारण हमारे पाचन तंत्र का सही ढंग से कार्य न कर पाना ही है।
बहुत से लोग ऐसे हैं जो अच्छा खाना खाते हैं बढ़िया प्रोटीन वाला फूड भी खाते जैसे- मांस, मछली, दूध, अंडा, पनीर, दाल आदि। लेकिन फिर भी उनका वजन नहीं पढ़ पाता है। इसका दोस्तों एक ही कारण होता है कि हमारे शरीर में पाचन तंत्र ठीक से कार्य नहीं कर रहा है। हमारा पाचन तंत्र हमारे द्वारा लिए गए आहार का ठीक से पोषक पदार्थों का अवशोषण नहीं कर पाता है इसलिए हमारा वजन नहीं बढ़ पाता है।
तो दोस्तों खाना हमारे शरीर में प्रॉपर ढंग से डाइजेस्ट नहीं होगा तो हमारा वजन कभी भी नहीं बढ़ेगा भले ही हम कितनी अच्छी चीजें (balanced diet) खाने में शामिल क्यों ना कर ले।
तो दोस्तों अब हम बात करेंगे कि इस पाचन तंत्र को हम किस प्रकार से ठीक करें ताकि हमारे दवारा खाए गए भोजन का अच्छे से अवशोषण करें जिससे वह हमारे शरीर को लगने लगे।

अपना वजन तेजी से कैसे बढ़ाएं (How to increase your weight fast)

दोस्तों अपने पाचन तंत्र को मजबूत बनाने के लिए आपको रात को एक गिलास दूध लेना है। और इसमें आधी चम्मच इलायची पाउडर डालकर आपको रोज रात को इसका सेवन करना है।

अगर आप ऐसा लगातार 15 दिन तक करते हैं तो आप देखेंगे कि खाना आपके शरीर में अच्छे से हजम होने लगेगा और जो भी आप खाएंगे वह आपके शरीर को लगने लगेगा और आप अपना वजन बढ़ता हुआ स्वयं महसूस करने लगेंगे।

दोस्तों आप बात करेंगे ऐसे तीन चीजों की जिनके सेवन से आपका वजन तेजी से बढ़ने लगेगा यह तीनों चीजें ही आपको नियमित रूप से खाली पेट खानी है।
1.भीगे हुए चने (Wet gram)
  दोस्तों चने में काफी मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है। इसके अलावा इसमें iron तथा fibre व अन्य पोषक पदार्थों की भी भरपूर मात्रा होती है। जो शरीर के वजन को तेजी से बढ़ाते हैं।
2. सोयाबीन(Soybean)
  दोस्तों सोयाबीन वजन बढ़ाने में काफी उपयोगी होती है तथा सबसे सर्वश्रेष्ठ मानी जाती है क्योंकि इसमें प्रोटीन की मात्रा सबसे ज्यादा पाई जाती है। सोयाबीन में लगभग 95% तक प्रोटीन पाई जाती है। इसलिए सोयाबीन के सेवन से आप मनचाहा वजन बढ़ा सकते हैं।
3.दूध (Milk)
  दोस्तों दूध के फायदे के बारे में तो आप पहले से ही जानते होंगे दूध में भरपूर मात्रा में पोषक तत्व पाए जाते हैं। दोस्तों दूध में भरपूर मात्रा में कैल्शियम प्रोटीन तथा लगभग सभी प्रकार के विटामिंस पाए जाते हैं।
दोस्तों यह तीनों ही चीजें तेजी से वजन बढ़ाने में उपयोगी होती है।
दोस्तो आप जानते हैं इनका सेवन आपको किस प्रकार से करना है।
रात को सोने से पहले आपको लगभग आधा कटोरी चना(50gm) व सोयाबीन (50gm) मिक्स में भिगोने है।
सुबह आपको उठकर चना व सोयाबीन को चबा चबा कर खाना है तथा ऊपर से एक गिलास दूध का जरूर पीना है। ऐसा आपको नियमित रूप से खाली पेट करना है।
दोस्तो आप देखेंगे कि 15 दिन के अंदर ही आप में वजन अपने आप दिखाई देने लगेगा। साथ ही आप नियमित रूप से हल्का-फूल्का व्यायाम अवश्य करें!
दोस्तों आप अपने वजन को बढ़ाने के लिए अगर कीसी प्रकार के दवाईयो या कैप्सूल का इस्तेमाल करते हैं तो आप इन्हें छोड़ कर एक बार यह ट्रिक आजमा कर देखें उम्मीद करता हूं कि आपको इससे जरूर फायदा होगा और आपका वजन तेजी से बढ़ेगा!


Read Also-
दुबले पतले शरीर को मोटा तगड़ा बनाने के आसान उपाय how to gain weight
हल्के व्यायाम से कैसे बने फुली फिट

आखिर क्यों जरूरी है संतुलित भोजन balanced diet chart for good health

संतुलित आहार balanced diet

शरीर को अनेक पोषक तत्वों (Nutrients) की आवश्यकता होती है यह शरीर को स्वस्थ रखने में सहायक होते हैं। कोई एक खाद्य पदार्थ इन सब की कमी को पूरा नहीं कर सकता। कुछ पदार्थों ऊर्जा देते हैं, कुछ हमारे शरीर की संरचना व मांसपेशियों का निर्माण करते हैं। और अन्य शरीर की क्रियाओं को सुचारू ढंग से चलाते हैं।एक उचित व संतुलित आहार में वे सभी पदार्थ होने चाहिए जो मिलकर सारे पोषक तत्व प्रदान कर सकें इसे ही हम संतुलित भोजन कहते हैं।
संतुलित आहार balanced diet plan

कार्बोहाइड्रेट्स (Carbohydrates)

  Carbohydrate निम्न प्रकार की भोजन से प्राप्त होती है।
अनाज (Grain)
अनाज के उत्पाद(Grain products)
आलू व अन्य जड़ वाली सब्जियां(Potatoes and other root vegetables)
वनस्पति(Vegetation)
शर्करा(Sugars)
शरबत(Syrup)
फल(Fruit) आदि।
   पेट से शर्करा खून द्वारा यकृत में पहुंचती है जहां यह ग्लाइकोजन के रूप में जमा हो जाती है कुछ शर्करा मांसपेशियों में भी रहती है यह दोनों जगह जब भर जाती है तो अतिरिक्त शर्करा चर्बी के रूप में चमड़ी के नीचे जमा हो जाती है यह चर्बी खासकर पेट एवं कूल्हों पर अधिक चढ़ती है इस प्रकार जरूर से ज्यादा खाने से मोटापा बढ़ने लगता है सैलूलोज के रूप में कार्बोहाइड्रेट आंतो और उदर की गति को नियंत्रित करता है।
हमारे भारत के भोजन में कार्बोहाइड्रेट अधिक मात्रा में पाया जाता है 1 ग्राम कार्बोहाइड्रेट से 4 कैलोरी ऊर्जा मिलती है।
Carbohydrate body को तत्काल ऊर्जा प्रदान करते हैं इसलिए धावक व खिलाड़ियों को कार्बोहाइड्रेट समय-समय पर दिया जाता है।

वसा /चर्बी(Fat / fat)

वसा के स्रोत (Source of fat)
वनस्पति घी, मक्खन, देसी घी, तेल, अंडा, क्रीम, मलाई, सोयाबीन, मूंगफली आदि चीजें शरीर को चर्बी देती है।
50 किलो वजन के पुरुष को प्रतिदिन 15 से 20 ग्राम वसा लेनी चाहिए।
अधिक वर्षा खाने से मोटापा बढ़ता है और धमनियों में चर्बी जमा होने से खतरनाक रोग हो सकते हैं जैसे-हार्ट अटैक, मस्तिष्क में रक्त प्रवाह है रुकना, लकवा इत्यादि।

प्रोटीन(Protein)
प्रोटीन के स्रोत(sources of protein)
सोयाबीन(Soybean)
दालें (Pulses)
दूध(Milk)
पनीर(cottage cheese)
अंडा(Egg)
मांस(Meat)
मछली(fish)
आदि।

हमारे शरीर का विकास तथा शरीर की मरम्मत प्रोटीन से होती है। हमारी मांसपेशियां प्रोटीन से बनती है प्रोटीन की इन ईटों को अमीनो एसिड कहते हैं।यह अमीनो एसिड जुड़कर मांसपेशियों व अन्य अंगों की रचना करते हैं विभिन्न क्रियाओं में सहायक एंजाइम, हार्मोनस व खून के लिए भी प्रोटीन जरूरी होती है। प्रोटीन द्वारा विभिन्न प्रकार की एंटीबॉडीज शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाती है।
प्रतिदिन शरीर में 7 ग्राम प्रोटीन लेना चाहिए।
प्रोटीन पाचन में कठिन होती है।
सबसे ज्यादा प्रोटीन सोयाबीन में पाई जाती है।
वजन बढ़ाने में प्रोटीन कारगर साबित होती है।

खनिज(Mineral)

खनिज जैसे- कैल्शियम, फास्फोरस, आयोडीन, लोहा,जिंक, तांबा, सोडियम, पोटेशियम व अन्य।
हड्डियों व दांतो की रचना एवं मरम्मत करते है।
शरीर की कोशिकाओं की रचना करते हैं।
शरीर के विभिन्न द्रव्यों, खासकर ब्लड के तत्व हैं।
कार्बोहाइड्रेट ,प्रोटीन, वसा को उपयुक्त तरीके से काम में लाने में सहायक है।
शरीर को ऑक्सीजन की कमी के खतरों से बचाते हैं।
तांबे की एक बहुत सूक्ष्म मात्रा, शरीर में लोहे के उपयोग के लिए आवश्यक होती है।यदि तांबे के बर्तन में खाद्य सामग्री को गर्म किया जाए तो तांबे की आवश्यक मात्रा मिल जाती है।
एक व्यस्क व्यक्ति को 400 मिलीग्राम कैल्शियम एवं 28 मिलीग्राम आयरन प्रतिदिन लेना चाहिए।
सीताफल, दूध कैल्शियम का सबसे अच्छा स्रोत है।
हरी पत्तेदार सब्जियां, मेवे वह मछली मैं आयरन की प्रचुर मात्रा पाई जाती है।
पालक में प्रचुर मात्रा में आयरन पाया जाता है

नमक व आयोडीन(Salt and iodine)

नमक में सोडियम और क्लोराइड होता है।
आयोडीन की सूक्ष्म मात्रा थायराइड ग्रंथि के लिए आवश्यक है। आजकल आयोडीन युक्त नमक उपलब्ध है जो कि आयोडीन की कमी को पूरा करता है।
जिंक, Selenium आधी की बहुत थोड़ी सी मात्रा शरीर को ऑक्सीडेंट नामक रसायनों से बचाती है।

विटामिन्स (Vitamins)

विटामिंस बहुत प्रकार की होती है
विटामिन ए (Vitamin A)
विटामिन ए गाजर शकरकंद टमाटर आलू की मखन अंडा यकृत आदि में पाई जाती है।
विटामिन ए की कमी से रतौंधी तथा अन्य लोग भी हो जाते हैं। जैसी आंखों की रोशनी में कमी, कीटाणु के विरुद्ध शरीर की आंतरिक सतह की प्रतिरोधक क्षमता में कमी के कारण आंख, मुंह है वह फेफड़ों में संक्रमण होना। इसकी कमी से बच्चों में हड्डियों और दातों का विकास बीमा हो जाता है

Vitamin B

विटामिन b1 या थायमिन

थायमीन विटामिन, शरीर के विकास, खुराक, पाचन क्रिया व शर्करा सी ऊर्जा उत्पादन तथा तंत्रिकाओं के सुचारू रूप से कार्य करने में सहायक है।
Vitamin B1 की कमी से कई प्रकार के मस्तिक रोग हो जाते हैं जैसे तंत्रिकाओं की कमजोरी, सूजन व उत्तेजित शीलता बढ़ जाती है। पैरों में जलन व्हाय झनझनाहट महसूस होती है। Vitamin B1 की कमी से बेरी बेरी नामक रोग हो जाता है।
अनाज, चावल की भूसी, दूध, मांस व सब्जियों से थायमीन आवश्यक मात्रा में मिलती है।

विटामिन बी 2 या राइबोफ्लेविन

यह भी विटामिन b1 के समान विकास एवं संरचना में सहायक होती है।
राइबोफ्लेविन की कमी से मुंह के कोनो व होंठ फटने लगते हैं जीभ में सूजन आ जाती है।
हरी सब्जियां, दूध, अंडा, सोयाबीन व मांस से हमें विटामिन B2 मिलता है।

नियासिन (Niacin)

नियासिन नामक विटामिन मस्तिष्क का चमड़ी को स्वस्थ रखता हैं।
किस विटामिन की कमी से पेलेग्रा नामक रोग हो जाता है। इस रोग में चमड़ी पर दाने उभर आते हैं और लाल पड़ जाती है। मुह के कोने फटने लगते हैं दस्त लगने शुरू हो जाते हैं तथा मानसिक असंतुलन भी हो सकता है।
नियासिन अंकुरित गेहूं मांस मछली आदि में प्रचुर मात्रा में मिलता है।

फोलिक एसिड विटामिन B12 बी6 भी शरीर के विकास को नियंत्रित रखने में, खून बनाने में, मांसपेशियों, चमड़ी व तंत्रिकाओं को स्वस्थ रखने के लिए आवश्यक है।


Folic acid vitamin B12 की anaemia disease हो जाता है।
अगर आप अपने शरीर में अच्छे बदलाव लाना चाहते हैं वजन बढ़ाना व घटाना चाहते हैं तो अपने भोजन में इस संतुलित आहार को जरूर अपनाना चाहिए।

Read Also-
दुबले पतले शरीर को मोटा तगड़ा बनाने के आसान उपाय how to gain weight
हल्के व्यायाम से कैसे बने फुली फिट

अच्छी सेहत चाहते हो तो हंस भी लिया करो हंसने के जबरदस्त फायदे 10 Benefits of laugh

हंसने के जबरदस्त फायदे The Benefits of Laughing


यह तो आपने सुना ही होगा लाफ्टर 'इज द बेस्ट मेडिसन' हंसी लाखों रोगों की एक दवा है। लेकिन क्या आप जानते हैं की दिल से निकलने वाली हंसी आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद होती है। एक शोध के अनुसार बताया गया है की खुद पर चुटकुले कहने वाले या खुद पर हंसने वालों के मनोवैज्ञानिक स्वास्थ्य का स्तर काफी अच्छा होता है।इसके अलावा इस बात पर भी जोर दिया गया है कि खुद पर हंसना एक तरह से गुस्सा दबाने या नियंत्रण करने की कोशिश का संकेत होता है। गुस्सा न करना भी सेहत के लिए लाभकारी होता है।
Laugh good of health
आइए जानते हैं हंसना हमारे शरीर के लिए किस प्रकार से उपयोगी है। हंसने की 10 स्वास्थ्यवर्धक फायदे नीचे बताए जा रहे हैं।

हंसने के फायदे Benefits of laugh





1. त्वचा पर निखार Skin whitening-
      हंसी को नेचुरल कॉस्मेटिक भी कहा जा सकता है इसका असर प्राकृतिक एंटी एजिंग के तौर पर दिखाई देता है हंसने से चेहरे की मांसपेशियों की एक्सरसाइज होती है जिससे झुरिया नहीं आती है साथ ही मोटापा पर भी कंट्रोल हो जाता है। रोजाना एक घंटा हंसने से 400 कैलोरी ऊर्जा की खपत होती है यही वजह है कि इन दिनों हास्य क्लब की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। हंसने का कोई समय नहीं होता है आप किसी भी समय कॉमेडी जोक्स पर हंस कर अपनी त्वचा में निखार ला सकते हैं।

2. ब्लड प्रेशर पर नियंत्रण Blood pressure control
   जिन व्यक्तियों का ब्लड प्रेशर हाई रहता है उसको बहुत ज्यादा हंसना चाहिए उसे खुशनुमा माहौल में रहना चाहिए। एक अध्ययन के मुताबिक हंसने से शुरुआत में रक्त वाहिनी ओं में रक्त का दबाव बढ़ जाता है। लेकिन यह बढ़ा हुआ स्तर तुरंत ही सामान्य स्तर पर पहुंच जाता है इससे यह भी साबित होता है कि हंसने से रक्त का संचार बढ़ने के साथ ही ब्लड प्रेशर भी कम होता है।



3. प्रतिरक्षा बढ़ती है Immunity increases
    आपने कभी सोचा भी नहीं होगा कि हंसने से भी इम्यूनिटी बढ़ती है। हंसने से एंटीबॉडी कोशिकाएं ऐसे हार्मोन का स्राव करती है जो शरीर में होने वाले बदलाव का सामना कर सके। इस स्राव से अनेक बैक्टीरिया और वायरस को नष्ट किया जा सकता है। हंसने की हमारे शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ती है जो ब्लड में मिलकर रक्त परिवहन में काफी मदद करती है।इसके अलावा यह दर्द निवारक थेरेपी की तरह भी कार्य करता है। हंसने से प्राकृतिक दर्द निवारक के तौर पर कार्य करता है।

4. वजन कम करना reduce weight
    जिन लोगों का वजन ज्यादा है और वह अपने वजन को घटाना चाहते हैं उनके लिए हंसना बहुत ही बड़ी दवा है आप हंस कर आराम से अपना वजन घटा सकते हैं। एक शोध के अनुसार डिप्रेशन या तनाव में रहने पर व्यक्ति ज्यादा खाने के अलावा जंक फूड का भी ज्यादा सेवन करता है और इसका असर सीधा उनके वजन पर पड़ता है।
  हंसने से हमारे दिमाग से एक रसायन सेरोटोनिन का स्राव होता है जो भूख पर नियंत्रण करता है जिसे हमें जल्दी-जल्दी भूख नहीं लगती है इस प्रकार हमारा वजन कंट्रोल (Weight control) होता है।

5. नेचुरल एक्सरसाइज Natural Exercise-
    हंसने से हमारे मुंह में पाए जाने वाली कई मसल्स की एक्सरसाइज होती है। हंसने से फेफड़ों के डायग्राम और पेट की मसल्स पर भी असर पड़ता है। हंसने से चेहरे की मसल्स पर भी असर पड़ता है जो हमारे चेहरे की बनावट को अच्छा बनाती है। और हमारी खूबसूरती के चार चांद लगाती है।

6. यादाश्त और मूड को बेहतर करने में हंसी सहायक होती है शरीर में स्ट्रेस पैदा करने वाले हार्मोन का स्तर हंसने से कम होता है तथा थकावट दूर होती है।

7.हंसने से आंखें जब बड़े और दिल की मांसपेशियों को आराम भी मिलता है और रक्त संचार भी ठीक रहता है जब हम खुलकर हंसते हैं तो दिल तक पहुंचने वाला रक्त संचार भर जाता है और रक्त वाहिनी ओं की गतिविधियां भी बेहतर होती है हंसने से अस्थाई तौर पर हार्ट रेट (Heart Rate) बढ़ जाता है जिससे दिमाग तक ऑक्सीजन की मात्रा भी भर जाती है। जो हमें पूरे दिन तरोताजा रखती है।
8.इसके साथ ही हंसने से हमारे दिन की एक्सरसाइज भी होती है तथा हर्ट अटैक का खतरा भी कम होता है।
रक्त का संचार और ऑक्सीजन की मात्रा शरीर में बढ़ती है हाई ब्लड प्रेशर(High blood pressure) को कम करने में मदद मिलती है।



9.जिस तरह फिजिकली फिट रहने के लिए नियमित रूप से एक्सरसाइज करते हैं वैसे ही हंसने के लिए आप लाफ्टर क्लब से जुड़ सकते हैं लाफ्टर योगा भी अच्छा विकल्प है अच्छा और ऊर्जा से भर देने वाला संगीत सुनें और कॉमेडी फिल्में देखें बहुत से कॉमेडी शो भी आते हैं जो आप दिल से हटा सकते हैं खाली समय में आप अच्छी और मनोरंजक पुस्तके पढ़ें तथा पालतू पशुओं के साथ वक्त बिताएं इससे आप मानसिक रूप से बिल्कुल स्वस्थ रहेंगे।

10. Positive energy-

    हंसने से हमारे अंदर सकारात्मक ऊर्जा का भी प्रभाव होता है कुछ देर खुलकर हंसने से मांसपेशियां कम से कम 45 मिनट तक रिलैक्स हो जाती है और हमारी सारी थकान कुछ क्षण में ही दूर हो जाती है।साथ ही खुलकर हंसने से सारा तनाव बाहर निकल जाता है जिससे तनाव से होने वाली मानसिक व शारीरिक समस्याओं से बचा जा सकता है।
तथा हमें अंदर से सकारात्मक ऊर्जा प्रदान करता है और हमें लक्ष्य की ओर अग्रसर करता है।
हंसना तनाव दर्द और बीमारियों को दूर करने का प्रभावी एंटी डॉट है।

Read Also-

बीएड माइक्रो टीचिंग डायरी कैसे बनाएं How to create a B.Ed Micro Teaching Diary

दोस्तों अगर आप B.Ed कर रहे हैं तो आपकी माइक्रो टीचिंग होगी और उसके साथ ही आपको माइक्रो टीचिंग डायरी तैयार करनी पड़ेगी।
 तो आइए जानते हैं B.Ed माइक्रो टीचिंग डायरी बनाते समय क्या करना चाहिए।

माइक्रो टीचिंग कार्यक्रम Micro Teaching Program 


छात्र अध्यापक/छात्रा अध्यापिकाओ के लिए-
 शिक्षण कार्य के लिए कुछ अध्ययन कौशल अनिवार्य होते है।
यथा पाठ को प्रस्तुत करना, विषय वस्तु के विचार के लिए प्रश्नों का निर्माण करना तथा प्रश्नो के उत्खनन और खोजी उपाय करना, सीखने लायक बातों को श्यामपट पर लिखते जाना, प्रस्तुतीकरण की रीतियों मैं परिवर्तन लाते रहना,दृष्टांत और उदाहरण देते हुए शिक्षण बिंदुओं की व्याख्या करना।
       इन कुशलताओं के विकास के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रारंभिक स्तर पर इन कुशलता ओं की अभ्यास का आयोजन किया जाता है। यह आयोजन परिस्थितियों में होता है। प्रशिक्षणार्थी ही छात्र बनते हैं, शिक्षक बनते हैं और अवलोकन करता बनते हैं।
हर प्रशिक्षणार्थी हर तरह की भूमिका निभाता है। और शिक्षक के रूप में अपने कौशल अभ्यास में निखार लाता है।
 एक कुशलता के अभ्यास के लिए प्रशिक्षणार्थी को दो बार पाठ रचना करनी पड़ती है। एक पाठ का शिक्षण 3 से 7 मिनट तक होता। उसके बाद अपने साथियों से तथा प्राध्यापक से उसे दिशा निर्देश मिलते हैं। तदनुसार उसे अपना पाठ पुनः बनाना पड़ता है। और पुन: शिक्षण करना पड़ता है। ऐसा उसे कुशलता के लिए दो बार करना पड़ता है। इस प्रक्रिया में कमी रहने पर उसे अतिरिक्त अभ्यास करना पड़ सकता है।
   शिक्षण कौशल का विकास के लिए निम्नलिखित 5 कुशलता है निर्धारित की गई है।

1.प्रस्तावना
 ↓
2.प्रश्न रचना
 ↓
3.व्याख्या
4.उद्दीपन परिवर्तन
5.श्यामपट्ट कार्य


   इनमें से हर एक पर प्रशिक्षणार्थी को कम से कम 2 बार अभ्यास करना पड़ता है। एक अभ्यास में शिक्षण प्रताप पुणे शिक्षण के दो चरण होंगे।
   इस डायरी में उसी परिणाम से कुशलता के घटकों का विवरण मूल्यांकन के मापदंड, प्रथम शिक्षण, प्रतिपुष्टि के बाद पुनः शिक्षण, दितीय शिक्षण , पुनः द्वितीय शिक्षण -इस तरह से डायरी के पृष्ठ निर्धारित है। प्रशिक्षणार्थियों को चाहिए की अपने दोनों शिक्षण विधियों पर एक एक बार अभ्यास करें। यह पाठ को प्रधान है। विषय वस्तु गोण है।

एक कुशलता के लिए For a skill-
1. शिक्षण विषय प्रथम -
पाठ योजना
कक्षा शिक्षण
 
 प्रतिपुष्टि
 पुनः योजना
 पुनः कक्षा शिक्षण 
पुनः प्रतिपुष्टि

2. शिक्षण विषय द्वितीय-

पाठ योजना
कक्षा शिक्षण
 
 प्रतिपुष्टि
 पुनः योजना
 पुनः कक्षा शिक्षण 
पुनः प्रतिपुष्टि

आयोजन के समय एक अध्यापन समूह में सामान्यत 20 परीक्षार्थी रहेंगे। उनमें अनुकृति का चक्र इसी तरह रहेगा की-
1. 10 प्रशिक्षणार्थी कक्षा के छात्र की भूमिका निभाएंगे।
2. शेष 10 शिक्षक तथा अवलोकन करता की भूमिका निभाएंगे।
3. उस शिक्षक समूह का चक्कर पूरा होने पर भूमिका बदल जाएगी अथार्थ जो शिक्षक समूह था, वह छात्र समूह बनेगा।
इस तरह से हर प्रशिक्षणार्थी हर भूमिका में अभ्यास करेगा।
✓छात्र की भूमिका निभाते समय प्रशिक्षणार्थि
 को यह ध्यान रखना चाहिए कि उस समय वह संबंधित कक्षा स्तर के छात्र के अनुसार ही व्यवहार करें।
✓अवलोकन करता प्रशिक्षणार्थियों में से कर्म से  एक एक छात्र अध्यापक शिक्षण कार्य करेगा।  

अवलोकन के बिंदु / कौशल के घटक Components of skill

1. प्रस्तावना कौशल Prelude skill-
1. पूरा ज्ञान का उपयोग
2.छात्रों के उत्तरों का उपयोग
3.तारतम्यता
4.मूल पाठ की अग्रसरता
5.सहायक उपकरण व साधन का प्रयोग
6.उपयुक्त अवधि सीमा
7.तकनीकी की उपयोगिता या विधा
8.तत्कालिक घटनाओं से संबद्धता व रूचिपूर्ण

2. प्रश्न कौशल या खोजपूर्ण प्रश्न  Question skills
1.व्याकरणिक शुद्धता
2.प्रकरण से संबंधता
3.स्तर अनुरूप भाषा
4.संसिप्ता
5.पुनरावृति
6.पूरी कक्षा को संबोधन व वितरण
7.उचित गति एवं घिराव
8.प्रश्नों में तारतम्य ता
9.प्रश्नों की पर्याप्तत्ता

3. पुनर्बलन कौशल Reinforcement skills-
1.मौखिक स्वीकृति
2.हाव भाव स्वीकृति
3.समीपता पुनर्बलन
4.सकारात्मक अशब्दीक संकेत
5.सकारात्मक शाब्दिक संकेत
6.अतिरिक्त अर्थ संकेत
7.नकारात्मक शाब्दिक प्रबलन
8.नकारात्मक एशाब्दिक प्रबलन

4. श्यामपट्ट लेखन कौशल Blackboard writing skills
1.अक्षरों की सुडोलता व अस्पष्टता
2.अक्षरों के आकार की समानता
3.वाक्यों में संचिपत्ता एवं सुस्पष्टता
4.व्याकरणिक शुद्धता
5.विषय वस्तु की क्रमबद्ध ता
6.मुख्य बिंदुओं एवं शब्दों का रेखांकन
7.पाठ के साथ साथ चित्रों, रेखा चित्रों का विकास
8.रंगीन चौक का प्रयोग

5. उदाहरण सहित दृष्टांत कौशल  Example illustration skills
1.दृष्टांत सुगम और सरल
2.दृष्टांत प्रसांगिक
3.दृष्टांत रोचक
4.छात्रों के उत्तरों से उनके बोध की जानकारी होती थी
5.दृष्टांत में आगमन निगमन विधि प्रयुक्त की थी।
6.दृष्टांतो की संख्या समुचित थी।
7.छात्रों द्वारा दृष्टांत दिए गए थे।
8.छात्रों ने पर्यय सिद्धांतों को समझ लिया था।

प्रस्तावना कौशल
BEd microteaching skill
 प्रश्न कौशल
 श्यामपट्ट कोशल
 उदाहरण दृष्टांत कौशल
 पुनर्बलन कौशल

Read Also-
विज्ञान पाठ योजना
शिक्षा की परिभाषाएं
साइंस लेसन प्लान इन हिंदी

Latest happy Diwali wishes 2018 shayari,sms,status in Hindi Deepavali greeting cards


Happy Diwali wishes status in Hindi

जो तू चाहे वो तेरा हो
हर दिन खूबसूरत और
राते रोशन हो,
कामयाबी छुट्टी रहे आपके कदम हमेशा,
ऐसी दीपावली हो इस बार।

मक्के की रोटी, आम का अचार,
सूरज की किरणें, खुशियों की बहार,
मुबारक हो आपको, दिवाली का त्यौहार।

एक दुआ मांगते हैं हम अपने भगवान से,
 चाहते हैं आपकी खुशियां पूरे ईमान से,
सब हसरतें पूरी हो आपकी,
और आप मुस्कुराएं दिलो जान से।।

दीप जलते जगमगाते रहें,
हम आपको आप हमें याद आते रहे,
जब तक जिंदगी है,
दुआ है हमारी,
आप चांद की तरह जगमगाते रहे।।
आई आई दीपावली आई,
साथ में कितनी खुशियां लाई,
धूम मचाओ मौज मनाओ,
आप सभी को दीपावली की बधाई।

हर दम खुशियां हो साथ,
कभी ना हो दामन खाली,
हम सब की तरफ से,
आपको हैप्पी दिवाली।।

Diwali wishes SMS, shayari, status in Hindi

हरदम खुशियाँ हो साथ, 
कभी दामन ना हो खाली,
हम सभी की तरफ से,
आपको हैप्पी दीवाली।।

आपके यहाँ धन की बरसात हो
माँ लक्ष्मी का वास हो,
संकटों का नाश हो,
हर दिल पे आपका राज हो,
उन्नति का सरपे ताज हो,
विश यू अ वैरी हैप्पी दिवाली।।
HAPPY DEEPAWALI


आशीर्वाद मिले बडो से,
सहयोग मिले अपनों से,
खुशियाँ मिले जग से,
दौलत मिले रब से,
यही दुआ करते है हम दिल से,
  हैप्पी दिवाली।

फूलों की शुरुआत कली से होती है,
 जिंदगी की शुरुआत प्यार से होती है,
 प्यार की शुरुआत अपनों से होती है,
और अपनों की शुरुआत आपसे होती है।।
हमारी तरफ से आपको दीपावली
की बहुत-बहुत शुभकामनाएं।।

सफलता कदम चूमती रहे,
ख़ुशी आसपास घूमती रहे,
यश इतना फैले की कस्तूरी शर्मा जाये,
लक्ष्मी की कृपा इतनी हो की बालाजी भी देकते रह जाये।।
       शुभ दिवाली Happy Diwali

दीपक का प्रकाश हर
पल आपके जीवन में
नई रोशनी लाए,
बस यही शुभकामना
है आपके लिए इस
दीपावली में।
शुभ दीपावली!


HAPPY DEEPAWALI 2018 

Diwali WhatsApp status wishes SMS, shayari, status in Hindi 

सुख सम्पदा आपके जीवन में आये,
लक्समी जी आपके घर में साम्ये,
भूल कर भी आप के जीवन मैं,
आगे कभी भी एक दुःख न आये 
 happy diwali


आई है दिवाली देखो
संग लायी खुशिया देखो
यहाँ वहाँ जहाँ देखो
आज डीप जगमगाते देखो

हैप्पी दिवाली


पटाखों की आवाज से गूंज रहा संसार,
दीपक की रौशनी और अपनों का प्यार,
मुबारक हो आपको दीपावली का त्योहार
दिवाली की शुभकामनाएं!

HAPPY DEEPAWALI  STATUS

 

मुस्कुराते हँसते दीप तुम जलाना,
जीवन में नयी खुशियों को लाना,
दुःख दर्द अपने भूल कर,
सबको गले लगना और प्यार से दिवाली मनाना.
अंधेरा हुआ दूर रात के सा
नयी सुबह आई दिवाली लेके आज
अब तक आंख्ने खोलो देखो एक मैसेज आया है
दिवाली की सुबह कामना साथ लाया है. ..

गुल ने भेजा गुलफ़ाम है,
तारो ने भेजा सलाम है,
बधाई हो आप को दिवाली,
हमारा दिल से बस यही पैग़ाम है..