10 June 2017

अनिद्रा क्या है अच्छी नींद के लिए क्या करें Reason of insomnia

Tags


आज यहाँ अनिद्रा के बारे में कुछ बताने वाले है की अनिद्रा नींद न आने की बीमारी (insomnia)क्या है और इसके कारण व निवारण क्या है।
चलिये पहले ये जानते है कि

अनिद्रा क्या है-What is insomnia

अनिद्रा का सीधा सा अर्थ है 'नींद न आना'या 'नीन्द की कमी' ।

कुछ दिन अगर आप को नीन्द ना आये तो आप इस रोग के शिकार हो सकते है।
यह भी एक बीमारी का ही रूप है साथ ही यह अन्य बीमारियो का कारण भी बनती है जैसे- ब्रेन स्ट्रोक,दिल का दौरा, उच्च रक्तचाप,यादाश्त कमजोर,तनाव व सिर दर्द आदि।



अनिद्रा के कारण- reason to insomnia



कुछ लोग तो ऐसे होते है जिन्हें बिस्तर पर जाते ही नीन्द आ जाती है और कुछ ऐसे होते है जिन्हे कितनी भी कोशिश करने के बाद भी नींद आसानी से नही आती है और इस कारण वह अनिद्रा का शिकार हो जाता है।तो यहाँ हम जानेंगे की इसका क्या कारण है-
ग्लूकोमा (Glaucoma)
मोतियाबिंद (cataract)

1 नशीले पदार्थो का सेवन-
 इनसोमनिया का शिकार वो होते है जो नशीले पदार्थो का सेवन करते है जैसे- शराब,निकोटिन,कैफीन,अफीम आदि का नियमित रूप से सेवन करना अनिद्रा का कारण बनता है।
2 चाय,धूम्रपान व अन्य प्रकार के नशे का ज्यादा प्रयोग भी हमारी नींद पर बुरा असर डालता है।
3 पर्याप्त नींद न आने के कारण अवसाद,घबराहट,तनाव और चिन्ता का प्रमुख तत्व है।
4 दवाइयों का अधिक प्रयोग करना तथा दवाइयों के साइड इफेक्ट से भी अनिद्रा की स्थिति बन जाती है दवाइयों में कैफीन होता है जो नींद को नही आने देता है और बैचेनी भी लाते है।
5 मोबाइल, कम्प्यूटर का प्रयोग-
आवश्यकता से अधिक मोबाइल व कम्प्यूटर का प्रयोग करने से आँखों को तो नुकसान पहुँचता ही है साथ ही मस्तिष्क को सुन कर देता है जिससे नींद में बाधा आती है।
6 रोग- कुछ रोगों के कारण भी नीन्द में बाधा आ सकती है वे रोग कैंसर,हार्ट रोग,दमा,एलर्जी आदि है।
7 परिवारिक चिन्ता- आज के लोग परिवार व समाज की बातो व नोक-झोंक को लेकर अपना मानसिक संतुलन खो रहे है जो भी अनिद्रा का कारण है।
8 रात भर TV देखना व अन्य कार्य करना भी insomnia का कारण है।
9 आज कल के बच्चों में बढ़ती प्रतिस्पर्धा की भावना भी इसका मुख्य कारण है।
ये सभी अनिद्रा के मुख्य कारण है।


अनिद्रा के प्रभाव(Effects of insomnia):-

1 दिनचर्या बिगड़ जाना जेसे-काम में मन ना लगना,दिन में नींद आना।
2  Digestive system का बिगड़ जाना अथार्त्  पाचन सम्बन्धि रोग पैदा होना।
3 अनिद्रा के कारण भूख ना लगना।
4 मस्तिष्क सक्रिय ना रहना।
5 याददास्त का कमजोर होना।
6 अवसाद ग्रस्त होना।
7 चिड़चिड़ापन उत्पन्न होना।
8 बात-बात में ग़ुस्सा आना।

अनिद्रा से बचने के लिए क्या करे

अनिद्रा का उपचार- treatment


1 अगर आप चाहते है की आप अनिद्रा से दूर रहे तो आप समय पर सोने की आदत डाले।
2 सोने से पहले अच्छी पुस्तक पढ़े।
3 धीमा संगीत सुने कुछ समय में नींद आ जायेगी।
4 सोने से कम से कम 2 घंटे पहले भोजन करे।
5 हल्का फुल्का व्यायाम करे ।
6 सयन कक्ष में light बंद कर के सोये तथा शोर -शराबा से दूर रहे।
7 अगर उपर्युक्त क्रियाएँ करने के बाद भी नींद ना आये तो डॉक्टर से सलाह लेवे।


अच्छी नींद के लिए ये करे Do this for good sleep-

-नींद स्वस्थ जीवन का उपहार है नींद में कमी शारीरिक व मानसिक कमजोरियों के कारण आती है।
- स्वस्थ रहने के लिए 7 से 8 घंटे की नींद जरूर ले।
- दिमाग में तनाव व चिन्ता के लिए कोई मनोवर्ति ना रखे।
- साँस को अंदर खींचे और कुछ समय बाद बाहर छोड़े,सोते समय गहरी साँस लें।
-अच्छी नींद के लिये सुबह और शाम नियमित रूप से स्नान जरूर करे।
-सोने से कम से कम 1 घंटे पहले  TV व Mobile को अपने से दूर छोड़े जिससे आँखों को आराम मिले और नींद आ सके।
-नशीले पदार्थो से दुरी अपनाये।
-सोते समय नकारात्मक बातें अपने दिमाग में ना लावे।


अच्छी नींद लेने के लिए खास डाइट होना भी बहुत जरूरी है-


रात में आपने क्या खाया है इस बात पर आपकी नींद निर्भर करती है दरअसल आसानी से पचने वाला खाना और खाने में मौजूद कुछ तत्वों का असर नींद पर पड़ता है खाने में कुछ खास टाइट रखी जाए तो अच्छी नींद आ सकती है।
● गुनगुने दूध या हर्बल चाय में थोड़ी सी मात्रा में शहद को मिलाने से अच्छी नींद आती है शहद में उपस्थित ग्लूकोज की हल्की मात्रा दिमाग को बंद करने का संकेत देती है यह अलर्टनेस का कारक होता है।
● दलिया हल्का होने की वजह से इसे बचाने में दिक्कत नहीं आती है डिनर में नमकीन या मीठा दलिया लिया जा सकता है खाने में हल्का होने से इससे पेट संबंधी परेशानी नहीं होती है और आप सुकून से सो सकते हैं।
● दूध एक तरह का एमिनो एसिड ट्रिपटोफेन होता है जो दिमाग को रिलैक्स करता है साथ ही मौजूद कैल्शियम दिमाग ट्रिप्टोफेन इस्तेमाल करने के लिए प्रेरित करता है।
● केला कार्बोहाइड्रेट से भरपूर होता है यह दिमाग को रिलैक्स करता है साथ ही इसमें मैग्नीशियम होता है जो मसल्स और नसों को आराम पहुंचाता है और अच्छी नींद आती है इससे बेहतर और कोई ऑप्शन नहीं हो सकता है।
उपयुक्त डाइट के साथ ड्राई फ्रूट्स लेकर भी आप अच्छी नींद ले सकते हैं।

अपनी जीवन शैली साधा रखे, लोकप्रियता से बचे तो आप तनाव मुक्त रहेंगे और आपका जीवन सुखमय रहेगा। साथ ही आप अनिद्रा (insomnia) से भी बचे रहेंगे।
तो ये था Insomnia के बारे में विस्तार पूर्वक नॉलेज जो आपको पसन्द आया होगा।