मोटापा/वजन कम करने के तरीके (Causes of obesity or weight loss

Tags



मोटापा (motapa) आज हम मोटापा के कारण होने वाले रोगों को जानेंगे। दोस्तों मोटा होना एक ख्वाहिस होती है सभी चाहते है की वे भी मोटे हो फिट रहे, लेकिन हद से ज्यादा मोटा होना हमारे स्वास्थ्य के लिए बिलकुल भी लाभदायक नही होता है। मोटापा बढ़ जाने के बाद लोग कई प्रकार के प्रयास करते है मोटापा कम करने के लिए। फिर वो एक नयी टेंशन लेते है की मोटापा कैसे कम करें। अपना वजन कैसे कम करें।

जब मोटापा आता है तो अनेक प्रकार की बीमारियो को साथ लाता है ।चलना-फिरना भी मुश्किल कर देता है और पूरे शरीर को रोगग्रस्त बना देता है।

आज हम इन्ही रोगो की चर्चा करेगें ।
आज मोटापा लोगो में तेज़ी से फ़ैल रहा है। और ये मोटापा एक जानलेवा बीमारी है,जिसकी वजह से आगे चलकर हम heart,liver,kidney,स्नायु सम्बन्धि रोगो के शिकार हो जाते है।


मोटापा होने के कारण- (Causes of obesity)

1.हमारे शरीर में एडिपोज ऊत्तक का अधिक जमाव मोटापे का मुख्य कारण है।
2. मोटापा बढ़ने का मुख्य कारन है असंतुलित भोजन करना।
3.मोटापा वसा कोशिकाओ के माप के बढ़ने या उनकी संख्या में बढ़ोतरी के कारण से होता है।
4.मोटापा या वजन बढ़ने के अन्य कारण भी हो सकते है जैसे-तरल पदर्थो का जमाव,अनियंत्रित मांसपेशियो का विकास।
5.मोटापा फैमिली बैकग्राउंड,शारीरिक मेहनत का अभाव,हार्मोन का अभाव आदि कारणों से भी बढ़ता है।
6.जंकफूड और वसायुक्त पदार्थो का अधिक सेवन मोटापा बढ़ाता है क्योकि भोजन में ये अपचित रह जाते है।
7.योगा,व्यायाम जैसी क्रियाएँ ना करना भी मोटापा बढ़ने के कारण है।
8.रात को देर से सोना व सुबह लेट उठना तथा नींद पूरी न करना भी मोटापे के कारण है।

उपर्युक्त सभी कारणों से मोटापा बढ़ता है ये सभी मोटापा के कारण है।

जानिए आँखों की खतरनाक बीमारी मोतियाबिंद (cataract) के बारे में |
जानिए शाकाहार के फायदे (Vegetarianism)
 

मोटापा से होने वाली बीमारियाँ- (Obesity related diseases)

                               
मोटापा के कारण शरीर रोगो से भर जाता है,लोगो की शारिरिक क्रिया-कलाप में मुश्किले पैदा कर देता है,मोटापे के कारण थकान और आलस जैसी बीमारिया सदैव आपके आस-पास ही होती है।
आइये जानते है की मोटापे के कारण कौन-कौनसी बीमारीया होती है।

1.कोलेस्ट्रोल बढ़ना-
                           अधिक तेल,घी व मसाले युक्त भोजन करने से शरीर में कोलेस्ट्रोल की मात्र बढ़ती है।
शरीर में कोलेस्ट्रोल की मात्रा बढ़ जाने से ब्लड से संबंधी बीमारीया हो जाती है साथ ही हार्ट -अटैक  का खतरा बढ़ जाता है।

2.ब्लड-प्रेशर-
                   मोटापा के कारण बी पी की समस्या सामने आती है,अधिकतर लोगो की बी पी मोटापा के कारण सामान्य नही रहती है कुछ लोग low तो कुछ high बी पी की वजह से परेशान रहते है।

3.डायबिटीज़ -
                मोटापा का प्रमुख कारण है शुगर,मोटापा बढ़ने के कारण कोलेस्ट्रोल बढ़ता है साथ ही कैलोरीज़ बढ़ती है जिससे इन्सुलिन हॉर्मोन में कमी आती है और ब्लड में ग्लूकोज़ की मात्रा बढ़ जाती है ।जिससे डायबिटीज़ रोग होता है।

4.थकान व आलस्य-
                       मोटापा बढ़ने से थकान व आलस्य दोनों बढ़ते है,थोड़ा काम करने या चलने-फिरने से ही मोटे व्यक्ति की साँसे फूलने लगती है तथा थकान महसूस करने लगता है।
इसलिए मोटा होने का कोई फायदा नही है।

5.दर्द-
          जब लोग मोटे होने लगते है तो चलना-फिरना कम कर देते है जिससे उन्हें शरीर में कई जगह पर दर्द महसूस होता है ख़ासकर मोटापा के कारण जोड़ो(joint) में दर्द सभी मोटे लोगो के होता है।घुटने,कूल्हे,टखने आदि में दर्द रहता है।

6.तनाव-
           मोटापा बढ़ने के साथ ही stress भी बढ़ने लगता है क्योंकि लोगो मोटा होने पर अनेक चिंताए सताती है जैसे-खूबसूरती की चिंता,वजन घटाने की चिंता,चलने-फिरने में दिक्कत की चिंता आदि।इन्ही चिंताओं के कारण मोटे लोग चिड़चिड़ापन महसूस करते है।

7.उपर्युक्त सभी रोगो के अलावा भी कई रोग जैसे- हार्ट रोग,दिल का दौरा,श्वाश सम्बन्धि रोग,स्तन कैंसर भी मोटापा के कारण ही होते है।



मोटापा कम करने के तरीके- Ways to reduce obesity

वजन कम करने के तरीके weight loss-


             मोटापा (motapa)कम करने के कुछ टिप्स में यहाँ बता रहा हू जो वजन कम करने में कारागार साबित होंगे-

1.सुबह सूर्योदय से पहले बिस्तर छोड़ दे।
2.खाली पेट 2 लौट(गिलास) गुनगना पानी पीये।
3.डेली योगासन करे।
4.मॉर्निंग वॉक पर जाये।
5.लिफ्ट का कम प्रयोग करें ज्यादा से ज्यादा पैदल चलें।
6.चीनी,सफ़ेद नमक,मैदा,बेसन का प्रयोग खाने में बिलकुल कम मात्रा में करे।
7.पेय पदर्थो का जैसे-ज्यूस,नींबू पानी का प्रयोग अधिक करें।
8.जंक फ़ूड से बचें।
9.संतुलित भोजन का प्रयोग करें।
10.भोजन में मांसाहार को शामिल न करें।

पोस्ट अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ सोशल मिडिया पर जरुर शेयर करें।