20 November 2018

B.Ed का फाइनल लेसन प्लान कैसे बनाएं final lesson plan for B.Ed

Lesson plan for science, Final lesson plan for B.Ed Lesson plan in Hindi

How to make B.Ed's Final Lesson Plan

B.Ed में लगने वाला अंतिम लेसन प्लान फाइनल लेसन प्लान कहलाता है । Final lesson plan एक सत्र में केवल एक बार लगता है। Final lesson plan B.Ed exam से पहले या बाद में हो सकता है।  फाइनल लेसन के दिन छात्राध्यापक वेशभूषा में सेंटर पर पहुंचते हैं उनके पास किसी एक पाठ पर बनाई गई पाठ योजना (lesson plan) होती है। यह लेसन प्लान 1 डायरी में तैयार किया जाता है। जो पहले से college lecturer के द्वारा चेक करवाई जाती है।
इस फाइनल lesson के साथ प्रकरण से संबंधित chart व model भी अनिवार्य रूप से तैयार किया जाता है।
इन सभी के साथ छात्राध्यापक/छात्र अध्यापिका को फाइनल लेसन प्लान के दिन श्वेत वर्तिका, Duster, पॉइंटर, चार्ट, मॉडल, final lesson plan diary के साथ सेंटर पर उपस्थित होना पड़ता है। इसकी समय अवधि 35 से 40 मिनट तक होती है। एक्स्नल के द्वारा निरीक्षण (observation ) करने के बाद नंबर नोट कर लिए जाते हैं। यह नंबर आपको रिजल्ट में मालूम होते हैं। एक्शनल के निकलने के 4 से 5 मिनट बाद आप क्लास से बाहर आ सकते हैं। इस प्रकार आपका  final lesson plan complete हो जाता है।

Final lesson plan से संबंधित महत्वपूर्ण बातें-

  • ✓फाइनल लेसन प्लान के उपस्थित होना बहुत जरूरी होता है।
  • ✓छात्र अध्यापिका/छात्राध्यापक वेशभूषा में होना चाहिए। (शर्ट अंदर सेटिंग, शूज, बेल्ट होना जरूरी)
  • ✓सेंटर पर समय से पहले ही पहुंचने का प्रयास करें।
  • ✓Final lesson plan dayari साथ होनी चाहिए।
  • ✓Final lesson plan diary में लेसन बनाते समय रंगीन कलर पैन का प्रयोग करना चाहिए।
  • ✓लेसन का एक चार्ट होना चाहिए।
  • ✓टॉपिक से संबंधित model होना चाहिए।
  • ✓छात्राअध्यापिका/छात्राध्यापक के बैग में डस्टर,प्वाइंटर, चाक होना चाहिए।
  • ✓छात्राअध्यापिका/छात्राध्यापक को लेसन देते समय घबराना नहीं चाहिए।
  • ✓छात्राअध्यापिका/छात्राध्यापक को क्लास में जाते ही ब्लैकबोर्ड से संबंधित कार्य पूर्ण करना चाहिए जैसे -Date,Class,Topic Name , time limit, subject आदि को लिखें।
  • ✓प्रकरण का नाम लिखने के बाद उसे अंडरलाइन करना चाहिए।
  • ✓उसके बाद अपने शिक्षण बिंदुओं को बोर्ड पर लिखना चाहिए।
  • ✓कर्म अनुसार शिक्षण बिंदुओं का वर्णन करना चाहिए।
  • ✓शिक्षण बिंदुओं को समझाते समय चार्ट व मॉडल का प्रयोग करना चाहिए।
  • ✓श्यामपट का इस्तेमाल मुख्य बिंदुओं को लिखने के लिए किया जाना चाहिए।
  • ✓श्यामपट्ट कार्य स्पष्ट व प्रभावी होना चाहिए।
  • ✓शिक्षण बिंदुओं को समझाने में संकेतक का प्रयोग करना चाहिए।
  • ✓फाइनल लेसन समाप्त होने के बाद श्यामपट्ट कार्य को पूर्ण रुप से साफ करना चाहिए।
फाइनल लेसन में lesson plan ऐसे topic पर बनाएं जो आप को मौखिक रूप से याद हो तथा जिसके चार्ट व मॉडल भी तैयार किए जा सकें।
हम यहां पर एक final lesson plan का example दे रहे हैं।
 Hindi Tech Area · Post  B.Ed का फाइनल लेसन प्लान कैसे बनाएं, final lesson plan for B.Ed

Final lesson plan for B.Ed-

विद्यालय का नाम____________________
कक्षा-9                                      कालांश-
दिनांक-                                      वर्ग-
विषय-विज्ञान                            समयावधि-35 मिनट 

                  प्रकरण-डी ऑक्सी राइबो न्यूक्लिक अम्ल(DNA)


शिक्षण उद्देश्य-
उद्देश्य
अपेक्षित व्यवहारगत परिवर्तन
1.ज्ञानात्मक
1. विद्यार्थी डीएनए के बारे में जान सकेंगे।
2. विद्यार्थी DNA का प्रत्यास्मरण कर सकेंगे।
2.अवबोध
1. विद्यार्थी DNA की व्याख्या कर सकेंगे।
2 विद्यार्थी DNA के रासायनिक संगठन के बारे में जान सकेंगे।
3.अनुप्रयोगात्मक
1. विद्यार्थी डीएनए के बारे में दूसरों को बता सकेंगे।
2 विद्यार्थी डीएनए से प्राप्त ज्ञान का उपयोग आगे के प्रकरणों में कर सकेंगे।
4.कोशल
1. विद्यार्थी डीएनए की संरचना को मॉडल द्वारा समझा सकेंगे।
2 विद्यार्थी DNA के रासायनिक संगठन को उनकी संरचना सहित समझा सकेंगे।
5.अभिरुचि
1. विद्यार्थी DNA की हेलिकल स्ट्रक्चर को जानने में रुचि लेंगे।
2 विद्यार्थी DNA की संरचना व संगठन के बारे में विचार विमर्श कर सकेंगे।
6. अभिवृत्ति
1. विद्यार्थियों में वैज्ञानिक दृष्टिकोण उत्पन्न होगा।
2 विद्यार्थियों में मानसिक शक्ति का विकास होगा।

आवश्यक सामग्री:-
  श्वेत वर्तिका (चाक), लपेट-फलक,संकेतक, चार्ट मॉडल व अन्य कक्षा उपयोगी सामग्री आदि।
 शिक्षण बिन्दु:-
                1. डीएनए का रासायनिक संगठन   2. डीएनए की आणविक संरचना    3. DNA में यौगिकों के समायोजन प्रक्रिया।
शिक्षण विधि/प्रविधि-
                प्रश्नोत्तर विधि, व्याख्यान विधि, कथन विधि
 पूर्व ज्ञान:-
        छात्र न्यूक्लिक अम्ल के बारे में सामान्य जानकारी रखते हैं।
      प्रस्तावना:-
क्र..
छात्राध्याप्क क्रियाएं
विधार्थी क्रियाएं
1.
कोशिकाओं के केंद्रक में मिलने वाली कुंडलीनुमा संरचना कहलाती है?
गुणसूत्र
2.
गुणसूत्र का वह छोटे से छोटा खंड जो संरचनात्मक व क्रियात्मक इकाई है?
जीन
3.
जीन किसका एक खंड है?
DNA
4.
DNA का पूरा नाम बताइए ?
डी ऑक्सी राइबो न्यूक्लिक अम्ल
5.
DNA की संरचना के बारे में आप क्या जानते हैं?
समस्यात्मक प्रश्न
     उद्देश्य कथन:-
                      अच्छा तो विद्यार्थियों आज हम डीएनए की संरचना के बारे में विस्तृत अध्ययन करेंगे।




मूल्यांकन प्रश्न-
       1. डीएनए अणु में पाई जाने वाली शर्करा है।
      (अ) डी ऑक्सी राइबोज   (ब) राइबोज      (स) दोनों     (द)  कोई नहीं       [    ]
       2. डीएनए अणु का मॉडल किसने प्रस्तुत किया ?
      (अ) जॉनसन   (ब) स्टीव स्मिथ      (स) वाटसन और क्रिक     (द) हेकल व पेलाडे     [    ]
     3. डीएनए अणु __________से बना होता है।
     4. डीएनए अणु का व्यास 20 A° होता है।      सत्य / असत्य
     5. न्यूक्लियोटाइड किसे कहते हैं ?
     6. साइटों सीन व थाइमिन के बीच________ पाया जाता है?

गृहकार्य प्रश्न-
            राइबो न्यूक्लिक अम्ल की संरचना का सचित्र वर्णन कीजिए।

     पर्यवेक्षक टिप्पणी                                                             हस्ताक्षर पर्यवेक्षक


इन्हें भी पढ़ें-