24 May 2019

जहर का इलाज Poison treatment in hindi

Tags

दोस्तों आज हम जानेंगे कि शरीर में जहर के प्रवेश कर जाने के बाद हमें किस प्रकार से उपचार करना चाहिए।
  आज की इस तनाव भरी जिंदगी में अनेक कारणों से लोग बिना कुछ सोचे समझे जहर खा लेते हैं और अपनी जान को जोखिम में डाल देते हैं। वैसे इंडिया में जहर मिलना इतना आसान नहीं है फिर भी लोग घरों में उपयोग होने वाले कीटनाशक को जहर के रूप में इस्तेमाल कर लेते हैं। यह भी काफी जहरीले होते हैं कीटनाशक का जहर पूरे शरीर में  फैलने के लिए कम से कम 20 मिनट लगते हैं। यह काफी धीमा जहर होता है।

सावधानियां(Precautions)-

➤  आजकल थोड़े से तनाव में या कहासुनी में ही जहरीली चीजें खा लेने की प्रवृत्ति दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है।
➤इसलिए हमें ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए कुछ सावधानी रखनी होगी सभी जहरीली चीज़ें बच्चों की पहुंच से दूर रखें।
➤घरों में यूज होने वाले कुछ जहरीले पदार्थ जैसे- DDT, PESTICIDES, चूहे मार दवा, जहरीले बीज, पत्ते, विषाक्त खाद्य पदार्थ आदि बच्चों की पहुंच से दूर रखें।

जहर के प्रभाव के सामान्य लक्षण(General symptoms of poisoning effect)



➤विषाक्त भोजन में शुरुआत में 1-2 उल्टी आना जिसमें म्यूकस या रक्त भी आ सकता है।
➤दिन में 8 से 10 बार बदबूदार दस्त लगना तथा पेट में मरोड़े व दर्द होना।
➤रासायनिक या अन्य प्रकार के विषाक्त की जांच उल्टी रक्त व मूत्र के रासायनिक परीक्षण (chemical analysis) द्वारा की जाती है।

उपचार (Poison treatment)-

➤  यदि शक हो कि व्यक्ति के शरीर में जहर चढ़ गया है तो उसके गले में उंगली डाले या उसके गले के पीछे भाग को चम्मच से दबाकर या उसे काफी मात्रा में नमक मिला गुनगुना पानी पिला कर किसी भी प्रकार से उल्टी करवाएं।


➤यदि व्यक्ति को उल्टी ना आवे तो उसके मुंह के अंदर नली लगाकर कीप से पानी नमक मिला कर डालें। फिर नली को चारपाई के स्तर से नीचे करें ताकि व्यक्ति के पेट से पानी आने लगे तथा तब तक रखें जब तक पानी पूरी तरह साफ नहीं आने लगे।

➤जहां तक संभव हो नमक मिला पानी पिलाते रहें और उल्टी कराते रहें जब तक कि उल्टियां का रंग साफ ना हो जाए तुरंत, अस्पताल ले जावें।

➤दूध पिला कर भी उल्टी कर आते रहे।

➤यदि व्यक्ति बेहोश हो तो उल्टी नहीं करावें तथा सांस रुक गई हो तो उसको मुंह द्वारा सांस पहुंचाए।

➤डॉक्टरी सहायता हेतु जितना जल्दी हो सके उतनी जल्दी अस्पताल पहुंचाये।


➤दोस्तों अपने कीमती जीवन के महत्व को समझें तथा ऐसे ही किसी,तनाव, मायूसी या किसी के बहकावे में आकर भी जहर ना ले।  पृथ्वी पर आए हैं तो हंसी खुशी से जीवन का आनंद लें।
धन्यवाद!

यह भी पढ़ें-
चर्बी कम करने के तरीके   
हल्के व्यायाम से कैसे बने फुल्ली फिट 
पथरी के लक्षण 
 मच्छरो से बचने का तरीका 
सांप के काटने परउपचार