10th and 12th Board Exam Preparation Tips

 Board Exam Tips

                 स्टूडेंट के लिए फरवरी-मार्च, अप्रैल का महीना काफी खराब होता है क्योंकि वह मानते हैं कि इन महीने में उनका सबसे बड़ा दुश्मन आने वाला है। यानी कि एग्जाम्स लगने वाले होते है। जबकि कुछ बच्चों के लिए यह महीने काफी अच्छे होते हैं क्योंकि उन्हें अपने आप पर कॉन्फिडेंस होता है।
   बोर्ड एग्जाम या किसी भी एग्जाम की तैयारी करने के लिए आपके द्वारा पहले से की गई तैयारी की अहम भूमिका होती है।
अगर आप यह सोच रहे हैं कि बोर्ड की एग्जाम की तैयारी केवल 1 महीने में कंप्लीट कर ले तो यह गलत सोच रहे हैं क्योंकि बेस्ट रिजल्ट आपकी पूर्व तैयारी के आधार पर ही आता है।
BOARD EXAM TIPS


 10वीं व 12वीं बोर्ड एग्जाम की तैयारी के लिए यहां पर कुछ board toppers के द्वारा दिए गए सुझावों के आधार पर best exam tips बताएं जा रहे हैं।
  ये exam tips आपको बोर्ड एग्जाम के अतिरिक्त कक्षाओ की एग्जाम्स के लिए भी उपयोगी साबित होंगे। तो पोस्ट को पूरी पढ़े।

1.SYLLABUS-
   सबसे पहले सिलेबस को उठा कर देखिए। अगर आपके पास सिलेबस नहीं है अभी प्रिंट करवा ले।
सबसे पहले सिलेबस को दो से तीन बार अच्छे से पढ़ें। आपको सिलेबस के टॉपिक्स याद करना है।
इससे आपको अच्छे से पता चल जाएगा कि कौन से सब्जेक्ट में कौन-कौन से टॉपिक्स है।

2. Don't make Notes-
      आपके पास School notes उपलब्ध होंगे, अगर नहीं है तो अब नोट्स बनाकर अपना कीमती समय खराब ना करें।
केवल चैप्टर पढ़ते समय ही एक रजिस्ट्रर में short Note तैयार करते रहें और इन्हे अपने पास सुरक्षित रखे।
ये शॉर्ट नोट्स आपको एग्जाम वाले दिन पढ़ने है ध्यान रखना आपके पास कम समय होगा जिसमें आप यह आसानी से पढ़ सकते है।

3.STUDY TIME TABLE-
      सभी चीजों को भूल कर अब आपको पढ़ाई के लिए उचित समय निकालना बहुत जरूरी है इसलिए आपको एक अच्छे टाइमटेबल की जरूरत है।
इस टाइम अब एक ऐसे टाइम टेबल की जरूरत है जिसमें आप का अधिकांश समय पढ़ने वाला हो।
इस समय आप टाइम टेबल में जितने ज्यादा घंटे पढ़ाई के लिए देंगे आपके लिए उतना ही अच्छा होगा।
तो अभी एक कम से कम 10 घंटे प्रतिदिन पढ़ाई करने वाला टाइम टेबल बनाएं।
और इस टाइम टेबल में सभी सब्जेक्ट का टाइम फिक्स कर ले तथा टाइम टेबल के अकॉर्डिंग ही स्टडी करें। इस टाइम टेबल को अपनी स्टडी रूम में दीवार पर लगा ले।

4.SAMRT WORK
      बहुत से बच्चे ऐसे होते हैं जो सिलेबस को कंप्लीट करने के लिए दिन में 15 से 16 घंटे की पढ़ाई करते हैं जिसमें उनको कुछ भी याद नहीं रह पाता है।
इसलिए आपको इतने लंबे समय तक पढ़ाई करने से बचना है और एक स्मार्ट तरीका ढूंढना है क्योंकि कम समय में आपको केवल यह स्मार्ट वर्क ही सफलता दिलाएगा।
सिलेबस को ध्यान से देखें वह उसमें प्रत्येक यूनिट में से प्रश्न को सेलेक्ट करते हुए केवल उन प्रश्नों को ही पढ़ें जो पिछले सालों से हर एग्जाम्स में पूछे जा रहे हैं।
अन्य क्वेश्चनओं को सरसरी नजर से देख लेवे।
जो प्रश्न गत वर्षो में ज्यादातर पूछे गए हैं ऐसे प्रश्नों को लिख लिख कर कंठस्थ याद कर लेवे क्योंकि ऐसे प्रश्नों का पेपर में आना निश्चित होता है।

5.SELF STUDY
     एग्जाम से डेढ़ महीने पहले आपको स्कूल व ट्यूशंस को छोड़ देना चाहिए क्योंकि अब आपको जरूरत है सेल्फी स्टडी की।
क्योंकि अब तक स्कूल से मैं तो आप महीनों पढ़ चुके हैं और सिलेबस को अच्छी तरह से समझ चुके हैं।
इसलिए अब इसी सिलेबस को आपको अच्छे से शांत वातावरण में बैठकर दोहराना है।
सेल्फ स्टडी, स्टडी करने का बेस्ट तरीका होता है क्योंकि इसमें आपको कोई और सफलता नहीं आप अपने आप सफल होते हैं।
तो जितना हो सके उतना ज्यादा समय self-study को दें व अन्य प्रकार की चीजों को दिमाग से निकाल दें।
अगर आपको सेल्फ स्टडी करने में परेशानी हो रही है तो आप लाइब्रेरी जॉइन कर ले जिसमें आपको एक अच्छा माहौल मिल जाएगा।
सेल्फ स्टडी करते समय इंपॉर्टेंट पॉइंट्स को नोट करते जाएं।
सेल्फ स्टडी करने से आपका आत्मविश्वास बढ़ता है तथा आप और भी ज्यादा पढ़ पाते हैं।
सेल्फ स्टडी करते समय अगर आपको कोई टॉपिक समझने में परेशानी हो रही है तो इस टॉपिक को आप अपने टीचर से डिस्कस कर ले या फिर यूट्यूब की मदद ले।
6.Discussion
        आज के स्टूेंट्स सेलफिश हो गए है वह केवल अपने परिणाम कि चिंता करते है इसलिए वह किसी भी फ्रेंड्स से किसी भी टॉपिक पर डिस्कशन नहीं करते है।
पढ़ाई में डिस्कशन की भी महत्वपूर्ण भूमिका होती हैं। इसलिए जो भी टॉपिक आप को कठिन लगे उसका अपने दोस्तो के साथ डिस्कशन अवश्य करें, जिससे टॉपिक आपको हमेशा के लिए याद रहेगा।

7.Revision-
       जितना भी मैटर आप रोज पढ़े उसका रिविजन तुरंत करें,जिससे टॉपिक परमानेंट आपके दिमाग में छप जायेगा।

👉 READ ALSO→
बिना कोचिंग के एग्जाम में कैसे सफल हो
प्रतिदिन 12 से 13 घंटे पढ़ाई कैसे करें
पढ़ा हुआ कैसे याद रखें

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें