अपना कोचिंग सेंटर बिजनेस कैसे खोले? पूरी जानकरी A SUCCESSFUL COACHING CENTRE BUSINESS IN HINDI

Coaching Class Business Ideas

कोचिंग सेंटर कैसे खोलें

               दोस्तों आजकल शिक्षा का क्षेत्र काफी हद तक बढ़ गया है। प्रत्येक माता-पिता अपने बच्चे को अच्छे से अच्छी शिक्षा दिलवाना चाहते हैं क्योंकि वह जानते हैं कि आने वाले समय में शिक्षा के बिना कुछ भी नहीं होगा।
साथ ही शिक्षा के क्षेत्र में प्रतिस्पर्धा इतनी बढ़ गई है कि कम शिक्षा प्राप्त करने वाले भी अपने आप में नीचा महसूस करते हैं।
आज शिक्षा का स्तर इतना बढ़ गया है कि बच्चे की 90% प्राप्त करने के बाद भी माता-पिता प्रसन्न नहीं होते हैं जबकि एक समय पर बच्चे के 60% लाने पर भी पूरा परिवार जश्न मनाता था। क्योंकि उस समय 60% अंक लाने का बहुत महत्व था।
समय के साथ-साथ शिक्षा के क्षेत्र में काफी सुधार आता गया और स्कूल, कॉलेजों के साथ कोचिंग की शुरुआत भी होने लगी।
अच्छी शिक्षा प्राप्त करने के लिए छात्र-छात्राएं स्कूल कॉलेज के साथ-साथ कोचिंगो में भी जाने लगे हैं और इन्हीं कोचिंगो के कारण कंपटीशन काफी अधिक बढ़ गया है।
Coaching Center business in hindi,apna coaching kaise khole

➤दोस्तों आज हम यहां पर बात करेंगे कि आप अपना स्वयं का कोचिंग बिजनेस कैसे शुरू कर सकते हैं और आप इसमें कितनी कमाई कर सकते हैं।
अगर आप अध्यापक हैं या आप शिक्षा के क्षेत्र में विशेष रूचि रखते हैं तो आप अपना कोचिंग सेंटर बिजनेस (Coaching Center Business) शुरू कर सकते हैं।
भारत में पिछले कई वर्षों से Coaching Center Business का प्रचलन काफी बढ़ गया है।
शिक्षार्थियों व अभिभावकों में शिक्षा के प्रति जागरूकता बढ़ गई है भारत में बेरोजगारी के बढ़ने पर कंपटीशन भी काफी गहरा बढ़ गया है जिस कारण कोचिंग इंस्टिट्यूट स्थापित किए जाते हैं अगर  आप भी अपना Coaching Institute Business शुरू करना चाहते है तो आपने निम्न प्रकार के गुण होने चाहिए -

➤आप अपने कोचिंग इंस्टिट्यूट में खुद टीचिंग करवाएंगे तो आप हमें यह गुण अवश्य होने चाहिए-
1. शिक्षण
2. कुशल प्रबंधक (योजना निर्माण करना, व्यवस्था करना, नेतृत्व करना, नियंत्रण करना)
3. एक मनोवैज्ञानिक
4. एक अनुदेशक
5. मार्गदर्शक
6. समन्वयक


➤आइए जानते हैं कि आपको अपना Coaching class business करने के लिए क्या-क्या करना पड़ेगा-


1. कोचिंग पंजीकरण प्रक्रिया Coaching registration process-
       आप सोच रहे होंगे कि मुझे अपना कोचिंग बिजनेस स्टार्ट करने के लिए रजिस्ट्रेशन करवाना होगा या नहीं, तो आपको बता दें कि छोटे स्तर पर coaching class business Open करने के लिए किसी प्रकार के लाइसेंस की आवश्यकता नहीं पड़ती है लेकिन अगर आपका बिजनेस दिन- प्रतिदिन बढ़ रहा है और आप लाखों में कमाई कर रहे हैं तो आपको ट्रेड लाइसेंस एवं टैक्स रजिस्ट्रेशन दोनों की आवश्यकता पड़ती है।
 आप अपने कोचिंग सेंटर का रजिस्ट्रेशन अवश्य करवा ले क्योंकि रजिस्ट्रेशन कराने पर आप के कोचिंग सेंटर पर पॉजिटिव प्रभाव पड़ेगा। कोचिंग का रजिस्ट्रेशन होने के कारण स्टूडेंट्स में विश्वसनीयता बढ़ती है तथा साथ ही आप की पब्लिसिटी अच्छी होती है। कोचिंग का रजिस्ट्रेशन होने के कारण परिजन अपने बच्चों को आपकी कोचिंग में बिना किसी संकोच के भेज देते हैं।

2. कोचिंग के नाम का चयन Selection of coaching name -
       जब आप अपना कोचिंग इंस्टिट्यूट खोल रहे हैं तो आपने कोचिंग का नाम भी अवश्य सोचा होगा।
अपने कोचिंग इंस्टिट्यूट बिजनेस को बढ़ाना है तो आपको एक अच्छे से नाम का चयन करना होगा तथा साथ ही एक लोगों का निर्माण भी करवाना है।
कोचिंग का नाम किसी अच्छे व्यक्तित्व के नाम पर रखे तो बहुत अच्छा होगा तथा आगे चलकर यह आपका ब्रांड भी बन सकता है।

3. कोचिंग विषयों का चयन (Selection of coaching subjects)-
  सबसे पहले आपको कोचिंग में पढ़ाने वाले विषय का चयन करना होगा। इसके लिए अपने आसपास के क्षेत्र के बारे में जानकारी प्राप्त करें कि अधिकतर बच्चे कोचिंग में किस विषय को पढ़ना चाहते हैं।
जिस विषय की डिमांड ज्यादा है उस विषय को आप कोचिंग के लिए चुन सकते हैं और अगर आप किसी अन्य शिक्षक को रखकर सभी विषयों का ट्यूशन दें तो और भी अच्छा होगा लेकिन इसमें आपको शिक्षक को सैलरी देनी पड़ेगी।
Coaching Class subjects-  आजकल मार्केट में कुछ विषयों की डिमांड बहुत ज्यादा रहती है जैसे- गणित, विज्ञान, अंग्रेजी, डांसिंग, सिंगिंग व पेंटिंग इत्यादि।

4. कोचिंग स्थान का चुनाव Coaching location selection-
        कोचिंग खोलने से पहले आपको यह जरूर देखना होगा कि शांत माहौल वाला क्षेत्र कहा है और साथ ही ऐसा स्थान होना चाहिए जहां पर भीड़भाड़ वाला माहौल ना हो।
कोचिंग के पास में कोई बड़ी सड़क या हाईवे नहीं होना चाहिए अन्यथा परिजन आपके पास बालक को नहीं भेजेंगे तथा आपकी कोचिंग स्ट्रैंथ गिरी रहेगी।
 कोचिंग वाला क्षेत्र ऐसा हो जहां पर किसी प्रकार का शोर-शराबा /डिस्टरबेंस नहीं होना चाहिए तथा छात्र-छात्राएं आसानी से आ व जा सके।

5. कक्षा-कक्ष (Coaching Class room)-
    कोचिंग के लिए उचित क्षेत्र का चयन करने के बाद आपको कक्षा कक्ष की व्यवस्था भी करनी होगी।
आप एक ही बड़ा हॉल लेकर इसके पार्टीशन भी कर सकते हैं जिसमें एक या दो रूम तो आप पढ़ाने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं तथा एक अपने कार्यालय संबंधित कार्य करने के लिए उपयोग में ले सकते हैं।
कक्षा कक्ष में आपको उचित संसाधनों की जरूरत भी पड़ेगी जैसे- वाइट बोर्ड, मार्कर, पंखे, कुर्सियां व मेज,दरिया व एक लैपटॉप या कंप्यूटर।

6. कोचिंग फीस का निर्धारण Determination of coaching fees)-
   आप अपने कोचिंग बिजनेस से अच्छा पैसा कमाना चाहते हैं तो आपको अच्छे विषय के साथ-साथ उसकी अच्छी फीस का निर्धारण भी करना होगा।
फीस का निर्धारण आप मंथली या ईयरली भी कर सकते हैं। लेकिन
फीस का निर्धारण आपको काफी सोच समझ कर करना होगा क्योंकि मार्केट में और भी कोचिंग सेंटर्स होंगे।
आपको अपनी सुविधाओं के अनुसार अन्य कोचिंग सेंटर को देखते हुए फीस में थोड़ी छूट रखनी होगी जिसे आपसे स्टूडेंट्स जुड़ सकें और आपके पास एक अच्छी स्ट्रैंथ हो जाए।
कक्षाओं व विषय के अनुसार फीस का निर्धारण करें तथा किसी भी बच्चे के साथ फीस में बदलाव ना करें।


7. कोचिंग सेंटर बिजनेस में लगने वाला खर्चा Costs incurred in coaching center business
  कोचिंग सेंटर मैं वैसे तो कोई ज्यादा खर्चा नहीं लगता है लेकिन यह आपके कोचिंग क्षेत्र के ऊपर निर्भर करता है।
अगर आपने रूम किराए पर लिए हैं तो इसका खर्चा काफी अधिक लग सकता है।
आजकल शहरों में किराया काफी बढ़ गया है इसलिए अगर आप एक हॉल का किराया ₹3000 प्रति महीने के हिसाब से देते हैं तो आपका coaching institute business  में  कुल व्यय निम्न प्रकार से होगा।
बेंच, कुर्सियां व मेज - 10,000
व्हाइट बोर्ड, चॉक,डस्टर, प्वाइंटर -2000
पंखे- 5000
लैपटॉप या कंप्यूटर - 20,000
मार्केटिंग - 2000
अन्य - 5000

इस प्रकार एक नया कोचिंग सेंटर बिजनेस खोलने के लिए कुल खर्चा लगभग 50 से ₹70000 तक आता है।

8. कोचिंग सेंटर बिजनेस से होने वाली कमाई या मुनाफा Earnings or profits from coaching center business -

 कोचिंग सेंटर बिजनेस करने के लिए आपको केवल एक बार इन्वेस्टमेंट करना होता है और उसके बाद आप अच्छे से अच्छा लाभ इस व्यवसाय में कमा सकते हैं।
coaching class business में होने वाली कमाई आपके पढ़ाने के स्किल्स पर डिपेंड करती है आप जितने उच्च गुणवत्ता का शिक्षण कार्य करवाएंगे आपकी कमाई उतनी ही अधिक होगी।
 क्योंकि आपकी अच्छी शिक्षण शैली को देखकर बच्चे प्रभावित होंगे और अधिक से अधिक संख्या में आपकी कोचिंग में स्टूडेंट बढ़ेंगे।
मान लो अगर आपकी कोचिंग में कुल 100 विद्यार्थी आते हैं तो आपके Coaching Center Business की महीने की कमाई इस प्रकार होगी।
एक स्टूडेंट से न्यूनतम 500 रुपए मंथली फीस लेने पर- 100*500=50000 रुपए।
इसमें से ₹15000 तक के अपना मंथली खर्चा निकाल दे तो भी आप 30 से ₹35000 हर महीने कमा सकते हैं।


9. कोचिंग सेंटर का प्रचार- प्रसार Coaching Center business marketing-

  किसी भी बिजनेस के लिए बहुत ही जरूरी होता है उसकी मार्केटिंग।
जितनी अच्छी आप की मार्केटिंग होगी उतना ही अच्छा आपका बिजनेस ग्रो करेगा।
आप स्वयं कहीं अच्छे अध्यापक रहे हैं तो इससे ही आपकी मार्केटिंग स्टार्ट हो जाएगी क्योंकि बच्चे पहले से ही आप को जानते हैं।
Coaching Business Marketing के लिए आप अपने कोचिंग के पंपलेट पत्र-पत्रिकाओं में बटवा सकते हैं।
आपके आसपास की जितनी भी स्कूल है उनमें भी पंपलेट पटवा सकते हैं।
इसके साथ ही आप अपने कोचिंग सेंटर का शार्ट वीडियो बनाकर स्थानीय केबल ऑपरेटर को दे सकते हैं।
बच्चों को फ्री डेमो क्लासे देख कर भी कोचिंग का प्रचार कर सकते हैं।
फेसबुक व्हाट्सएप टि्वटर के माध्यम से भी आप अपने coaching class business की Marketing कर सकते हैं।

10. Coaching Center business opening -
   अपने कोचिंग सेण्टर की ओपनिंग आप स्कूलो के खुलने यानि सत्र के शुरू होने से पहले करे ताकि नए व पुराने स्टूडेंट्स आप से जुड़ सके......

➤यह बिजनेस आइडिया केवल बेरोजगारों के लिए एक राह मात्र रूप में बताया गया है इस बिजनेस को करने के लिए हमारे द्वारा आपके ऊपर कोई दबाव नहीं बनाया जा रहा है।