21 May 2019

सांप के काटने पर उपचार (Snake bite treatment)

Tags

सर्पदंश के उपचार Treatment of snakebite


ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले लोग आज भी सर्पदंश से मारे जा रहे हैं बल्कि यह शहरों में बहुत कम देखने को मिलता है।
भारत में ग्रामीण क्षेत्रों में सांप ज्यादातर  देखने को मिलते है। जबकि शहरों में यह कभी कभी ही दिखाई देते हैं।
Snake bite treatment

 भारत में पाए जाने वाले कुल सर्प प्रजातियां में केवल कुछ सर्प ही जहरीले होते हैं बाकी के सर्प विषहीन होते हैं।
 भारत में 8 से 10 सांप ही जहरीले होते हैं। जिनमें रसैल वाईपर, वाईपर, करेत, किंग कोबरा, कोबरा  सांप जहरीले हैं। इन सांपों के काटे जाने से व्यक्ति के 99.9 %  मरने के चांस होते हैं।
  गांवो में रहने वाले लोग विषहीन सांपो के काटे जाने के कारण भी मर जाते हैं।
इन लोगो में सांप के काटे जाने से डर के कारण हार्ट अटैक से मृत्यु हो जाती है। अज्ञानी लोग किसी झाड़-फूंक जैसे अंधविश्वास में आकर भी अपनी जान गंवा बैठते हैं।
इसलिए आज हम यहां पर आपको बताने वाले हैं कुछ सांप के काटने के बाद होने वाले तुरंत उपचार।


सांप का काटना (Snake bite)

जब किसी व्यक्ति को सांप काट ले तो सबसे पहले यह बात पता करें कि काटने वाला सांप जहरीला था या नहीं।
जहरीले सांप (Poisonous snake) की पहचान सांप के दांतो के निशान को देखकर की जा सकती है।
जहर वाले और बिना जहर वाले सांप(Snakes without poison) के दांतों के निशान अलग-अलग होते हैं।
विषैले सांप के काटने पर दो विष दंत स्पष्ट दिखाई देते हैं जबकि विषहीन सांप के काटने पर दोनों ओर पंक्ति में छोटे-छोटे दांतो के चिन्ह  दिखाई देते हैं।


सांप के काटने के लक्षण (Snake bite symptoms)-

  सांप के काटने के बाद कुछ ही देर में आपको लक्षण दिखाई देते हैं जिसके द्वारा पता लगा सकते हैं कि आपको किसी और जीव ने ना काट कर केवल सांप ने काटा है।
लक्षण (Symptoms)-
➤कटे हुए स्थान पर बहुत तेज दर्द होना।
➤कटे हुए स्थान पर सूजन आ जाना।
➤कटे हुए स्थान से खून बहना।
➤कटे हुए स्थान के आसपास की जगह का रंग बदलना।
➤व्यक्ति का ऊंघने लगना।
➤सिर दर्द और चक्कर आना।

सांप के काटने पर उपचार (Snake bite treatment)-

   सांप के काटने पर तुरंत उपचार की आवश्यकता होती है किसी झाड़-फूंक या बाबाजी के चक्कर में ना आकर तुरंत डॉक्टर के पास ले जावे, अस्पताल आपसे दूर है तो आप इतनी देर के लिए निम्न प्रकार से प्राथमिक उपचार कर सकते हैं।


प्राथमिक उपचार(first aid)

➤व्यक्ति को शांत रखें।
➤व्यक्ति के जिस अंग को सर्प ने काटा है उसे बिल्कुल भी नहीं हिलाए।
जितना हिलाएंगे जहर उतनी ही जल्दी शरीर में फेलेगा और उतनी ही जल्दी आपके मरने की संभावना बढ़ जाएगी।
➤सर्प द्वारा काटे गए व्यक्ति को लिटा दें।
➤कटे हुए स्थान से थोड़ा ऊपर कपड़ा बांधे।
➤कपड़े को बहुत ज्यादा कसकर न बांधे।
➤हर आधे घंटे बाद उसे थोड़ी देर के लिए खोल दें।
➤सांप द्वारा काटे गए स्थान को साबुन और पानी से धोएं।
➤एक साफ चाकू से विष के दांतों के निशान पर चीरा लगाये।
➤15 मिनट तक वहां से जहर मिला खून हाथ से दबा दबा कर निकाले।
➤व्यक्ति को तुरंत प्राथमिक चिकित्सा केंद्र ले जाएं तथा प्रतिदंश विष का टीका लगाएं।
➤यह टीका सांप काटने के 3 घंटे के अंदर लग जाए तो बहुत प्रभावशाली रहता है।
➤यदि आपके पास बर्फ है तो उसे दंश के स्थान पर मोटे कपड़े में बांध दें।
➤रोगी को बिल्कुल भी डरना और घबराना नहीं चाहिए।

दोस्तों यह थे सांप के द्वारा काटे जाने पर किए जाने वाले कुछ प्राथमिक उपचार उम्मीद करता हूं आपको यह पोस्ट अच्छी लगी होगी।

यह भी पढ़ें-
चर्बी कम करने के तरीके   
हल्के व्यायाम से कैसे बने फुल्ली फिट 
पथरी के लक्षण 
 मच्छरो से बचने का तरीका