16 May 2019

चोट से सुरक्षा कैसे करें How to protect from injury

Tags

चोट को न ले हल्के में (Do not take injuries in lightweight) 

  आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में छोटी मोटी चोट लगना आम बात है अगर आप हर तरह के घाव  की सही तरह से देखभाल करेंगे तो आपको किसी भी प्रकार की समस्या नहीं होगी।
 चोट लगने पर क्या करें कि घाव जल्दी से भरे।
इसके लिए नीचे कुछ टिप्स दिए गए हैं-
Injury


1. साफ पानी से धोएं (Wash with clean water)-

     शरीर के जिस पार्ट पर आपको चोट लगी है उस स्थान को सबसे पहले साफ पानी से धोना चाहिए घाव पर लगे छोटे कंकड़ व मिट्टी को अच्छे तरीके से साफ कर लें। घाव के आसपास के भाग को साबुन से साफ कर सकते है।
घाव के आसपास किसी भी प्रकार की गंदगी नहीं होनी चाहिए।
घाव को कभी भी आयोडीन, अल्कोहल आदि से नहीं धोना चाहिए।



2. घाव पर रुई का प्रयोग करें (Use cotton wool on the wound)-

     शरीर पर चोट लगने के बाद कुछ समय तक खून बहता रहता है इससे परेशान नहीं होना चाहिए क्योंकि यह खून कुछ समय बाद स्वत: रुक जाता है।
आप चाहे तो रुई की मदद से हल्का दबाव बनाकर भी खून बहने से रोक सकते हैं अगर रुई ने खून सोख लिया है तो आप रुई का टुकड़ा बदल सकते है। घाव पर यदि पहले से खून लगा है तो उसे हटाने के प्रयास में दोबारा खून निकलना शुरू हो सकता है।


3. बैंडेज का इस्तेमाल करें (Use bandage)-

     आपके शरीर पर लगा घाव अगर आपके कपड़ों से रगढ़ खा रहा है और आप परेशान हो रहे हैं तो उस स्थान पर आप bandage लगा सकते हैं इससे आपका घाव ढक जाएगा ।
घाव को सही तरह से न ढकने पर infection बढ़ने का खतरा रहता है। घाव को बैक्टीरिया से बचाने के लिए आपको ऐडहसिव bandage इस्तेमाल करनी चाहिए। आपको रोजाना बैंडेज बदलते रहना चाहिए।


4. क्रीम का इस्तेमाल करें (Use cream) -

       शरीर पर लगी चोट के घाव को जल्दी भरने के लिए आप antibiotic cream लगा सकते हैं।Cream से infections का डर खत्म हो जाता है। आपको एंटीबायोटिक क्रीम की हल्की परत घाव के ऊपर लगानी चाहिए अगर antibiotic cream के कारण रेसेज का खतरा महसूस होता है तो इसका इस्तेमाल  न करें ।

5. घाव का रखें ध्यान (Keep wound meditation):-

        अगर आपने किसी प्रकार की surgery  करवाई है तो इससे होने वाले घाव का पूरा ख्याल रखना चाहिए। जिस जगह पर चीरा लगा है, उसे कुछ दिनों तक बैंडेज से ढकना चाहिए। आपको उस जगह की रोज ड्रेसिंग करवानी चाहिए। साथिया को डॉक्टर से दिशा-निर्देश लेने चाहिए।
साथिया आपको घाव वाले स्थान को हमेशा सुखा रखना चाहिए।

यह भी पढ़ें-
सलाद क्यों है जरूरी
एलोवेरा जेल के फायदे
मालिश के फायदे
दांतों को कैसे चमकाएं